My world

जो भरा नहीं है भावो से , बेहती जिसमे रासधार नहीं, वह हृदय नहीं पत्थर् है जिसमे स्वदेश का प्यार नहीं।

Please login to make comment on this entry

No comment Yet!